Hindi love Shayari

Posted by- PAWAN KUMAR MAURYA 03 Aug , 2017 Views 211 Hindi Love Shayari

नजर से क्यूँ जलाते हो आग चाहत की,
जलाकर क्यूँ बुझाते हो आग चाहत की,
सर्द रातों में भी तपन का एहसास रहे,
हवा देकर बढ़ाते हो आग चाहत की।